चेंगलपट्टु, चेन्नई के लकड़ी फ़र्निचर के निर्यातक श्री चंदूलाल पटेल जिन्हे हृदय में दो अवरोध (Blockage) थे| भारत के सबसे माने हुए चेन्नई के अपोलो हॉस्पिटल में एंजियोग्राफी करवाने के बाद भी डॉक्टरों ने इन्हे जीवनभर दवाई खाने का कहा था, लेकिन इसके बाद भी इन्हे कोई आराम नहीं मिला तब राजीव भाई से गौमाता और गौमूत्र की जानकारी मिलने पर अपना उपचार पंचगव्य से शुरू किया और बीच में व्यवसाय की परेशान आने की वजह से कुछ समय लापरवाही बरतने के बावजूद दो साल के अंदर इनका हृदय का अवरोध पूरी तरह ठीक हो गया और आज यह पूरी तरह स्वस्थ जीवन व्यतीत कर रहे है और इस पंचगव्य चिकित्सा पद्धति का अपने संपर्क में आने वाले रोगियों के बीच प्रचार करके उनका जीवन भी बचा रहे है| जय गौमाता वंदे मातरम www.Panchgavya.org
Gomaata@gmail.com, Gaumata@Panchgavya.org
09444961723, 09444034723, 09444389039

Gaumaata Helpline: 044 27 28 22 23

0 comments:

Post a Comment

 
पंचगव्य विद्यापीठम विस्तार केन्द्रम - Panchgavya Vidyapeetham (Panchvidya) © 2018. All Rights Reserved.
Top